<img src="//trc.taboola.com/1148583/log/3/unip?en=page_view" width="0" height="0" style="display:none"> Fitness Regime for Pregnant Women - MamyPoko India Blog
Choose your Language :
गर्भवती महिलाओं के लिए सेहत से जुड़ी क्रियाकलाप
पहली तिमाही, दूसरी तिमाही, तीसरी तिमाही

गर्भवती महिलाओं के लिए सेहत से जुड़ी क्रियाकलाप

वैकल्पिक टेक्स्ट द्वारा: राहुल मक्कड़ | दिसंबर 14, 2018

यह जानकर आपको जरा हैरानी हो सकती है कि गर्भावस्था के दौरान एक्सरसाइज करने से आपका प्रसव स्वस्थ और तुलनात्मक रूप से कम पीड़ादायक हो सकता है, पर यह सब निर्भर करता है सही एक्ससरसाइज पर।

हालांकि, किसी खास फिटनेस या वर्कआउट क्रियाकलाप अपनाने से पहले, आपको अपने डॉक्टर से बात कर लेनी चाहिए, ताकि आपको सही एक्सरसाइज की जानकारी मिल सके, जिसे आप इस दौरान कर सकती हैं।

अवधि: 50-55 मिनट्स

तीव्रता: मध्यम

स्ट्रेचिंग

starting benefits of during pregnancy

आप अपनी फिटनेस क्रियाकलाप की शुरुआत 10 मिनट के स्ट्रेचिंग कार्यक्रम से कर सकती हैं, जो आपकी पेशियों को ढीला बनाने में मदद करेगा। अपनी फिटनेस क्रियाकलाप में स्ट्रेचिंग को शामिल करना काफी अहम होगा, ख़ासकर गर्भावस्था के दौरान, क्योंकि इस समय आपके शरीर का वजन बढ़ जाता है, जिससे आपके शरीर का अलाइनमेंट बिगड़ सकता है।

नतीजतन, आपकी पेशियों और जोड़ों को अतिरिक्त वजन उठाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ती है और उनके ऊपर काफी दबाव आ जाता है। यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपकी पेशी और जोड़ में दर्द पैदा न हो, रोजाना कुछ मिनटों के लिए नियमित रूप से स्ट्रेचिंग करना जरूरी हो जाता है।

रेसिस्टेंस ट्रेनिंग

benefits of resistance training like lifting light weights during pregnancy

हफ्ते में दो बार, केवल आधे घंटे के लिए हल्के भार उठाने, बाजुओं, कंधों और टखनों की एक्सरसाइज जैसी रेसिस्टेंस ट्रेनिंग अपनाने से गर्भावस्था के दौरान अपनाई जाने वाली वर्कआउट रुटीन में मदद मिलती है।

हालांकि, यह भी सलाह दी जाती है कि गर्भावस्था के दौरान फ्री-वेट्स की बजाए किसी वेट मशीन का इस्तेमाल करें, क्योंकि इसमें चोटिल होने की कम संभावना होती है। लाइट रेप्स 1 से 3 के साथ कम से कम 12 से लेकर अधिकतम 15 करने से काफी मदद मिलती है।

ऐरॉबिक एक्सरसाइज

aerobic exercise benefits for your health during your pregnancy

हफ्ते में एक बार, एक 30-मिनट ऐरॉबिक एक्सरसाइज करने से, जैसे कि स्विमिंग, ऐरॉबिक डांस, वॉकिंग या यहाँ तक कि स्पिनिंग करने से भी गर्भावस्था के दौरान आपकी सेहत को काफी फ़ायदा पहुंच सकता है।

खुद पर दबाव न डालें

इस प्रकार की फिटनेस क्रियाकलापों में शामिल होने का मुख्य उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि आप गर्भावस्था में आपको और आपके शिशु को फ़ायदा पहुंचाने वाली एक्सरसाइज करने के दौरान खुद पर दबाव न डालें। यदि आपको लगता है कि आप थकी हुई महसूस करती हैं, तो ऐसे छोटे-छोटे वाक्य बोलने का प्रयास करें जिसमें आपको सांस लेने की जरूरत न महसूस हो। यदि आप ऐसा नहीं कर पाती हैं, तो आप निश्चित रूप से खुद के ऊपर दबाव डाल रही हैं और ऐसे में बेहतर होगा कि आप वर्कआउट करना रोक दें।

सम्बंधित लिंक्स

उत्तर दें

आपके ईमेल ऐड्रेस को गोपनीय रखा जाएगा। चिह्नित फ़ील्ड्स को भरना आवश्यक हैं *

न्यूज़लैटर की सदस्यता